कौन हो तुम

13 02 2007

कौन हो तुम..

शीशे में एक अक्स सा लहराया था,
गौर से देखा तो हमारी परछाई नहीं,तस्वीर थी तेरी ।

राह में जब ठंडी हवा के झोंके आए चेहरे पर,
तो लगा,घनी ज़ुल्फ़ों की छांव हो तेरी ।

अधखुली आंखो ने देखी जब चांदनी
महसूस हुआ ये मुस्कान है तेरी ।

दिल मेरा अक्सर अपने से करता है जब बातें,
कान सुनने लगते हैं आवाज़ तेरी ।

धूप में निकलता हुं जब भी,
नज़रें ढुंढने लगती है परछाई तेरी

Advertisements

क्रिया

Information

9 responses

13 02 2007
kiran

helloo sanjeet ji….
apni kalpanaa ko bahut hi sachhe halke waa bahut hi saral waa somyaa room mai aap vyaakt karne mai kaamyaab ho paye hai…..jo likha hai jiske kalpana ki gaye hai kya usse aap abhi tak dhoondne mai kamyaab ho paye hai….?

13 02 2007
Amit (Semyon)

Kon ho tum..
Wo, jise dekha
Jise socha tha
Sapno me, Khyalon me.
Wahi to ho tum.
Tum wahi ho..

Jise socha tha sapna
Aaj wahi ho gaya apna
Kon ho tum, Mai Tumse kyo mila
Tumse Milna jo tha.
Sapna nahi tu Apnaa hua

Rista hai kya tera aur mera
Shayad wo..shayad wo, jo toote na
shayad wo, jo roothe na
Fir ye prashn kyo..
Kon ho tum ?

Jara dil me dekho
Jara dil se poochho
Mere Apne ho tum.
Haa.. Mere Apne ho tum

14 02 2007
hiren4u

sahi hai dost

15 02 2007
Shrish

वाह सुन्दर कविता संजीत जी।

ऊपर टिप्पणीकर्ताओं से आग्रह है कि हिन्दी में लिखने की कोशिश करें। इस बारे पूरी सहायता यहाँ परिचर्चा फोरम पर उपलब्ध है।

15 02 2007
संजीत त्रिपाठी

धन्यवाद श्रीश भाई।
उपरोक्त टिप्पणीकर्ताओं से हिन्दी में लिखने का निवेदन व्यक्तिगत रुप से किया गया है। कोशिश जारी है उनकी बशर्ते उनका कम्प्युटर मदद करे।

15 02 2007
सोमेश सक्सेना

संजीत जी बहुत सुंदर कविता है | इसी तरह लिखते रहें और हमें पढ़ाते रहें |

16 02 2007
ghughutibasuti

बहुत सुन्दर ।
घुघूती बासूती
ghughutibasuti.blogspot.com

17 02 2007
संजीत त्रिपाठी

1–धन्यवाद किरण जी, कुछ कल्पनाएं सिर्फ़ कल्पना कोरी कल्पनाएं ही होती हैं।
2— धन्यवाद सोमेश भाई व घुघूती बासूती जी

18 02 2007
baaniagrawal

aap ki kalpanaye bhi sacchi lagti hai…amazing….too good.

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s




%d bloggers like this: